चित्रकूट की हार भुला नहीं पाए सीएम

0

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान एक बार फिर सत्ता हासिल करने के लिए जनआशीर्वाद यात्रा पर निकले हैं। यात्रा के दौरान जनता से आशीर्वाद लेने के साथ ही वे विपक्षी पार्टियों पर हमला करने से भी नहीं चूक रहे हैं।

चित्रकूट हार का दर्द

सीएम शिवराजसिंह को चित्रकूट उपचुनाव में मिली हार का दर्द अब तक है। इसका जिक्र उन्होंने कर भी दिया। दरअसल, जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान सतना में सीएम का ‘जनता से सीधे संवाद’ कार्यक्रम आयोजित किया गया। जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि चित्रकूट विधानसभा के उपचुनाव में आप लोगों ने कांग्रेस को जिताकर गलती कर दी। कांग्रेस ने प्रदेश को बदहाली के सिवाय कुछ नहीं दिया। मैं यहां चौथी बार प्रदेश में भाजपा की सरकार के लिए आशीर्वाद मांगने आया हूं। भाजपा की एक बार फिर सरकार बने और चित्रकूट जीतने का आशीर्वाद दें।

कांग्रेस को मेरी यात्रा से परेशानी

सीएम शिवराज ने सभापुर, खांच, बांदी, चूंद खुर्द, झरी और कोनिया होते हुए जैतवारा में रथसभाओं में किसानों और महिलाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा, “कांग्रेस को मेरी जनआशीर्वाद यात्रा से परेशानी है। उन्हें सपने में भी मैं दिखाई देता हूं।“

विवादित बयान

बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह ने पूर्व सीएम दिग्विजयसिंह को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कांग्रेस नेता दिग्विजयसिंह को देशद्रोही बताया है। उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम ऐसे व्यक्ति हैं, जो यदि किसी आतंकवादी को पुलिस मार दे तो आतंकवादी के घर जाते हैं, उन्हें जी कहकर संबोधित करते हैं। मुझे कई बार दिग्विजयसिंह के ये कदम देशद्रोही लगते हैं।

दिग्विजय का पलटवार

सीएम शिवराज के बयान पर पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने पलटवार करते हुए कहा, “लगता है मेरी सक्रियता से शिवराजजी को काफी तकलीफ है। सीएम होने के नाते हो सकता है, उनके पास मेरे देशद्रोही होने का प्रमाण हो। यदि है तो मुझे गिरफ्तार कर सजा दिलवाएं। यदि नहीं हैं, तो माफी मांगें।

Share.