मध्यप्रदेश के 464 प्रत्याशियों पर आपराधिक मामले !

0

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव को केवल दो दिन शेष रह गए हैं| आज चुनाव प्रचार का अंतिम दिन है| प्रदेश में इस बार कुल 2,899 उम्मीदवार चुनावी रणभूमि में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं| सुप्रीम कोर्ट ने भले ही आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को संसद और विधानसभाओं में जाने से रोकने के लिए कई निर्देश दिए हों, लेकिन इस बार चुनाव में उतरे कई प्रत्याशी ऐसे हैं, जिन पर आपराधिक मामले दर्ज हैं|

2,899 उम्मीदवारों में से 2,716 उम्मीदवारों के शपथ पत्रों का जब अध्ययन किया गया तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ है| दरअसल, प्रदेश में इस बार कुल 464 ऐसे प्रत्याशी भी चुनाव लड़ रहे हैं, जिन पर आपराधिक मामले दर्ज हैं| डेमोक्रैटिक रिफॉर्म्स द्वारा किए गए विश्लेषण में सामने आया है कि कांग्रेस के सर्वाधिक प्रत्याशियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं वहीं दूसरे नंबर पर भाजपा है|

जानकारी के अनुसार, कांग्रेस के कुल प्रत्याशियों में 48 फीसदी आपराधिक मामलों के आरोपी हैं तथा भाजपा के 30 प्रतिशत उम्मीदवार अपराधी हैं| वहीं समाजवादी पार्टी के 25 फीसदी प्रत्याशी किसी न किसी मामले में अपराधी हैं| ये सारी जानकारियां उम्मीदवारों ने अपने शपथ-पत्रों में भरी हैं| चुनावी जंग लड़ रहे 295 उम्मीदवार ऐसे हैं, जिन पर हत्या, हत्या का प्रयास और दुष्कर्म जैसे गंभीर आरोप लगाए गए हैं| वहीं 16 उम्मीदवारों पर हत्या, 24 पर हत्या का प्रयास, 20 पर महिलाओं के साथ प्रताड़ना और छह पर अपहरण के मामले दर्ज हैं|

भाजपा के प्रीतम लोधी (पिछोर), लालसिंह आर्य (गोहद), राजा पंवार (मुलताई) पर हत्या के मामले दर्ज हैं| वहीं कांग्रेस के अरुणोदय चौबे (खुरई), मोहन सिंह सेंगर (इंदौर-2), सुखदेव पांसे (मुलताई) पर हत्या के मामले दर्ज हैं|

क्या फिर आपराधिक छवि वालों को टिकट देगी पार्टियां ?

इनके ख़िलाफ़ अपराध के सबसे ज्यादा मामले

राजनीति में बढ़ता अपराधीकरण…

Share.