छत्तीसगढ़ : टिकट के लिए दावेदार से पैसे की मांग को लेकर बवाल

0

विधानसभा चुनाव से पहले छत्तीसगढ़ कांग्रेस में विवाद थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस लगातार विवादों के घेरे में है, ऐसे में एक बार फिर टिकट की दावेदारी पर पैसे की मांग का आरोप सामने आया है। कांग्रेस में टिकट वितरण पर भी भ्रष्टाचार के आरोप सामने आ रहे हैं।दरअसल धरसींवा विधानसभा क्षेत्र के एक दावेदार रवि वर्मा ने टिकट के लिए दावा पेश करने पर गलत तरीके से डेढ़ लाख रुपयों की मांग करने का आरोप ब्लॉक अध्यक्ष दुर्गेश वर्मा पर लगाया है।

उन्होंने इस बारे में प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव और पीसीसी प्रभारी महासचिव गिरीश देवांगन को चिट्ठी लिखी है। रवि वर्मा ने यह चिट्ठी मीडिया में भी सार्वजनिक की है बल्कि ब्लॉक अध्यक्ष दुर्गेश वर्मा से कथित बातचीत का ऑडियो भी रिलीज़ किया है।

इस ऑडियो में कथित रूप  से ब्लॉक अध्यक्ष दुर्गेश वर्मा पार्टी फंड बता रहे हैं कि वे पार्टी फंड के लिए ये पैसे ले रहे हैं। कथित ब्लॉक अध्यक्ष इस बातचीत में रवि वर्मा को बता रहे हैं कि इस पैसे के एवज में उन्हें कोई रसीद नहीं मिलेगी बल्कि दावेदार को लिखकर देना होगा कि वे चुनाव के लिए सहयोग कर रहे हैं।

गौरतलब है कि वर्मा गोसेवक हैं, जिन्होंने रायपुर में गायों के लिए प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल के हाथों एंबुलेंस सेवा शुरु करवाई थी। इसके बाद वे कांग्रेस में लगातार सक्रिय रहे हैं। रवि वर्मा कांग्रेस से धरसींवा से टिकट चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने रायपुर में कोषाध्यक्ष के पास 51 हज़ार रुपए जमाकर नो ड्यूज़ लिया। उनका कहना है कि इसके बाद जब वे धरसींवा ब्लॉक अध्यक्ष के पास गए तो उन्होंने फिर से डेढ़ लाख रुपयों की मांग की। रवि वर्मा का कहना है कि इस बारे में जब उन्होंने पार्टी के बड़े नेताओं से बात की तो बड़े नेताओं ने बताया कि ऐसा कोई प्रावधान नहीं है। रवि वर्मा का कहना है कि प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल को जब यह बात बताई तो उन्होंने भी ऐसे किसी प्रावधान के होने से इनकार किया।

Share.