आलोक अग्रवाल मुख्यमंत्री…!

0

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मध्यप्रदेश में अपनी पार्टी के चुनाव प्रचार का आगाज़ करते हुए पार्टी के मुख्यमंत्री के चेहरे के नाम की घोषणा कर दी | उन्होंने एक कदम आगे बढ़ते हुए अपनी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष आलोक अग्रवाल को आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित कर दिया|

उन्होंने स्पष्ट कहा कि आम आदमी पार्टी की ओर से मध्यप्रदेश में आलोक अग्रवाल मुख्यमंत्री पद के दावेदार होंगे। केजरीवाल की इस घोषणा के बाद कांग्रेस और भाजपा जैसे बड़े राजनीतिक दलों पर सभी की नज़रें टिक गई हैं| राजनीतिक विश्लेषकों को नया मुद्दा मिल गया है| कहा जा रहा है कि जिस पार्टी का अभी विधानसभा चुनाव में खाता भी खुलना बाकी है, वे मुख्यमंत्री के नाम को लेकर गंभीर हैं, जबकि कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दल अगला मुख्यमंत्री कौन होगा, इस पर मौन हैं|

विधायकों की संख्या पर संशय

आम आदमी पार्टी कितने विधायक जीत पाएगी, इस पर संशय अभी भी कायम है| प्रदेश के मुद्दों पर आम आदमी पार्टी न तो आम जनता को अपने पक्ष में कर पाई है न ही जमीनी स्तर पर पार्टी की पकड़ मजबूत बताई जा रही है| पार्टी लगातार आम लोगों के मुद्दों को सीमित दायरे में रहकर जरूर समय- समय पर उठाती रही हैं | पार्टी प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में कितनी सीटें हासिल कर सकेगी, केजरीवाल यह भी स्पष्ट नहीं कर पाए हैं, लेकिन मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा कर दी गई है|

230 सीटों पर चुनाव लड़ेगी पार्टी

कांग्रेस और भाजपा अब तक विधानसभा चुनाव में एक-दूसरे के खिलाफ प्रचार कर आम जनता का मन बनाती आई है| यह पहला मौका है, जब बसपा के बाद आम आदमी पार्टी, आम लोगों के समक्ष एक विकल्प के रूप में खड़ा होने की कोशिश करेगी| हालांकि पार्टी की अब तक की कोशिशें उतनी कारगर नहीं दिखाई दे रही हैं, जिनसे यह तय हो सके कि आने वाले विधानसभा चुनाव में वे मजबूत  स्थिति में आ सकें|

कांग्रेस-भाजपा पर दबाव

जहां  भाजपा मुख्यमंत्री शिवराजसिंह की अगुवाई में चुनाव मैदान में है वहीं कांग्रेस पार्टी दो चेहरों, जिनमें कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया के नेतृत्व में चुनाव मैदान में है| दोनों ही पार्टियां मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा नहीं कर रही हैं, ऐसे में आम आदमी पार्टी ने अपनी पार्टी के मुख्यमंत्री के रूप में एक नाम घोषित कर एक तरह का दबाव बनाने की कोशिश की है|

Share.