लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा अध्यक्ष की चाह

0

आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर देशभर में चर्चाएं शुरू हो गई हैं| ऐसे में 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर मध्यप्रदेश के इंदौर से भी कई तरह के कयास लगना शुरू हो गए हैं| चर्चा इस बात की भी है कि इंदौर से लोकसभा चुनाव आखिर लड़ेगा कौन?

सूत्रों के अनुसार, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह इंदौर  से लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं, जबकि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान विदिशा से लोकसभा के लिए मैदान में उतरेंगे। ये समीकरण इसलिए भी बन रहे हैं क्योंकि लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और भाजपा का शीर्ष नेतृत्व इस बार चुनाव नहीं लड़ने की इच्छा जाहिर कर चुका है|

यदि इंदौर अमित शाह चुनाव लड़ते हैं तो उनके चुनावी संचालक कैलाश विजयवर्गीय होंगे। भाजपा संगठन के उच्च सूत्रों ने बताया कि इस बार लोकसभा अध्यक्ष सांसद सुमित्रा महाजन चुनाव लड़ने से इनकार कर चुकी हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी इस मामले में बातचीत की थी। उन्होंने कहा था कि यदि वे 75 साल उम्र के बंधन में हों तो उन्हें मुक्त कर दिया जाए।

ऐसी स्थिति में इंदौर लोकसभा से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को मैदान में उतारने की तैयारी की गई है क्योंकि इसका असर पूरे मध्यप्रदेश पर पड़ेगा| वहीं शिवराज सरकार के चार मंत्री भी इस बार लोकसभा चुनाव में उतारे जाएंगे। स्वयं शिवराजसिंह चौहान भी विदिशा से अपनी उम्मीदवारी तय करेंगे।

गौरतलब है कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज किडनी की बीमारी से ठीक होने के बाद चुनाव लडऩे की स्थिति में नहीं है। पार्टी लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और सुषमा स्वराज को राज्यसभा में भेजे जाने को लेकर विचार कर रहा है। वहीं इस बार अमित शाह के चुनाव संचालक के रूप में कैलाश विजयवर्गीय इंदौर में पूरे चुनाव का संचालन करेंगे। लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पूरे देश के दौरे पर रहेंगे। केवल नामांकन भरने और चुनाव के अंतिम दिनों में ही वे इंदौर आएंगे। फ़िलहाल मध्यप्रदेश में 12 से अधिक सांसदों ने इस बार लोकसभा चुनाव लडऩे से इनकार कर दिया है। इनमें अधिकांश ग्वालियर और रीवा अंचल के हैं।

Share.