जोगी कांग्रेस को मिला चुनाव चिन्ह

0

आखिरकार लंबे इंतज़ार के बाद जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) को अपना चुनाव चिन्ह मिल गया है। चुनाव आयोग ने जनता कांग्रेस को ‘हल चलाते किसान’ का चिन्ह आवंटित किया है।

किसानों की पार्टी

चुनाव चिन्ह मिलने पर अजीत जोगी ने कहा कि ‘हल चलाता किसान’ छत्तीसगढ़ की अस्मिता का निशान है। जनता कांग्रेस किसानों की पार्टी है। मेरे शपथ-पत्र में मैंने पहली शपथ किसानों को 2500 रुपए समर्थन मूल्य और ऋण माफी की दी है। सीएम बनते ही पहले यह आदेश जारी करूंगा।

अब छल नहीं ‘हल’ चलेगा

जोगी ने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ के बेरोजगार युवाओं, शराब से त्रस्त महिलाओं और परेशान व्यापारियों की समस्याओं के हल के लिए भगवान ने ही ‘हल चलाता किसान’ चुनाव चिन्ह पार्टी को दिया। अब छत्तीसगढ़ में परिवर्तन की शुरुआत हो चुकी है। छत्तीसगढ़ में ‘हल चलाता किसान’ की सरकार बनेगी। अब छल नहीं हल चलेगा।

2016 में किया पार्टी का गठन

बता दें कि 2016 में अजीत जोगी ने अपनी पार्टी का गठन किया था। बाद में चुनाव आयोग से चुनाव चिन्ह की मांग की गई थी, लेकिन किसी भी राज्य में चुनाव होने के 6 माह पूर्व ही चुनाव आवंटित करने का नियम है। आगामी 6 जुलाई को जोगी ने चुनाव चिन्ह के आवंटन के संबंध में अपना आवेदन भारत निर्वाचन आयोग नई दिल्ली में जमा किया और उनको चुनाव चिन्ह मिल गया।

नारियल चिन्ह थी मांग

अजीत जोगी ने जब अपनी पार्टी का गठन किया था, तब उन्होंने पार्टी के रजिस्ट्रेशन के बाद नारियल छाप चुनाव चिन्ह की मांग की थी। चुनाव आयोग द्वारा उस दौरान चुनाव चिन्ह आवंटित नहीं किया गया क्योंकि किसी भी राज्य में चुनाव से छह माह पूर्व चुनाव चिन्ह आवंटित किए जाने का नियम है। इस बीच गोवा में विधानसभा चुनाव में वहां एक नवगठित राजनीतिक दल ने नारियल छाप चुनाव चिन्ह ले लिया।

Share.