3 नंबर की दावेदारी से अलग भी हैं कुछ नाम

0

विधानसभा चुनाव के लिए टिकट मांगने का सिलसिला शुरू हो चुका है| ऐसे में सभी नेता पार्टी संगठन के सामने अपनी दावेदारी जता रहे हैं| इंदौर में विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा नेताओं ने भी अपनी दावेदारी संगठन के सामने रखी है| जिन नेताओं को दावेदारी करना है, उन्होंने तो अपने नाम संगठन के सामने रख दिए, लेकिन इसके बावजूद कुछ नाम ऐसे हैं, जो बिना दावेदारी के भी इस दौड़ में हैं| पूरे शहर में उनकी चर्चा भी है|

भाजपा संगठन हमेशा से ही कार्यकर्ताओं के कार्यों के आधार पर उन्हें टिकट देता आया है, लेकिन इस बार परफॉरमेंस के साथ चेहरे पर भी ध्यान दिया जा रहा है| यही कारण है कि इस विधानसभा चुनाव में कई पुराने विधायकों के टिकट कटना तय है| यदि कोई विधायक नहीं भी मानता है तो उसे दूसरे इलाके में भेजा जा सकता है|

कुछ ऐसा ही नज़ारा बन रहा है इंदौर विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 03 में| इस बार ख़बरें हैं कि भाजपा संगठन यहां अपना चेहरा बदलेगा| जीत के लिए भाजपा इस क्षेत्र से युवा चेहरों को मौका देना चाहता है| चर्चा है कि इस विधानसभा से भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय को या फिर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के बेटे मंदार महाजन को टिकट मिल सकता है|

दूसरे युवाओं में गौरव रणदीवे जैसे नेता भी इस क्षेत्र से दावेदारी कर रहे हैं, लेकिन उनकी संभावनाएं अभी कम ही नज़र आ रही हैं| वहीं जो पुराने दावेदार हैं, उनके नामों में संगठन को थोड़ी कम उम्मीद नज़र आ रही है, इसलिए युवा विकल्प पर संगठन विचार कर रहा है|

खबर यह भी है कि विधायक उषा ठाकुर को यदि 3 नंबर विधानसभा से हटाया जाता है तो उन्हें धार विधानसभा क्षेत्र से भी टिकट दिया जा सकता है| इसके पीछे कारण यह यह भी है कि धार से कांग्रेस के बालमुकुंदसिंह गौतम तगड़ी दावेदारी कर रहे हैं और उन्हें ठाकुर जैसी कट्टर नेता हरा सकती हैं|

कुल मिलाकर जो कुछ भी हो, लेकिन 3 नंबर से इस बार नेता पुत्र के लड़ने की बारी है| यदि कैलाश विजयवर्गीय विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ते हैं तो आकाश का टिकट तय है, वहीं मंदार महाजन को 3 नंबर या राऊ में भाजपा उतार सकती है|

-पॉलिटिकल डेस्क

यह खबर भी पढ़े- राऊ में मुश्किल है जीत

यह खबर भी पढ़े- कांग्रेस का दलितों के लिए नया फॉर्मूला

यह खबर भी पढ़े- छात्राओं के लिए भाजपा की मिस सोशल प्रतियोगिता

Share.