Video: ईवीएम के बाद डाक मतपत्र पर विवाद

1

मध्यप्रदेश में ईवीएम में गड़बड़ी के बाद अब डाक मतपत्र  का विवाद तूल पकड़ चुका है। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के पुलिस मुख्यालय से मिले डाक मतपत्र का मामला गरमा गया है। निर्वाचन आयोग को शिकायत मिलने के बाद आयोग ने इसकी जांच की कमान पुलिस मुख्यालय को ही सौंप दी है। चुनाव आयोग ने पुलिस मुख्यालय के अलावा डाकघर से भी जानकारी मांगी है। डाकघर से निर्वाचन आयोग ने इन डाक मतपत्रों को जमा करने को लेकर जानकारी तलब की है। इस मामले में कलेक्टर को एसडीएम संतोष वर्मा ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है।

डाक मतपत्र को लेकर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने निर्वाचन आयोग से शिकायत की थी। वहीं एक कार्यकर्ता ने पत्रकारों को बताया कि उन्होंने भोपाल के पुलिस मुख्यालय की कैंटीन में डाक मतपत्रों को पड़ा देखा और इस बात की जानकारी अधिकारियों को दी। इस मामले में कांग्रेस नेता कृष्णा घाटगे ने कहा कि मैं मंगलवार को होमगार्ड की कैंटीन में पहुंचा तो मुझे इसकी खबर मिली। मैंने वहां कैंटीन के अंदर पोस्टल बैलेट के 250 लिफाफे और बाहर तीन लिफाफे ऐसे ही रखे देखे, जिसे कोई पूछने वाला नहीं था।

इसके बाद कांग्रेस नेता ने आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले 3 दिनों से यह डाक मतपत्र कैंटीन में पड़े हुए हैं और किसी ने इन पर ध्यान तक नहीं दिया। इस गंभीर गड़बड़ी को लेकर कांग्रेस पार्टी ने राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से शिकायत की। कांग्रेस पार्टी ने अधिकारियों पर चुनाव प्रक्रिया को मजाक बनाने का आरोप लगाया है और इसे विपक्ष की साजिश करार दिया है।

मप्र चुनाव : रीवा में ईवीएम पर भारी मतपत्र

VIDEO : ईवीएम के पास कोई आए तो गोली मार देना

सुप्रीम कोर्ट : बैलेट पेपर से चुनाव करवाने की मांग खारिज

Share.