राजस्थान चुनाव 2018 में इन लोगों से खतरा…

0

आगामी राजस्थान चुनाव के लिए पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है। वहीं राजस्थान पुलिस भी अब चुनाव की तैयारी में लग गई है। चुनाव में कोई बड़ा हादसा न हो, इसकी तैयारी में पुलिस जुट गई है।जयपुर पुलिस को आशंका है कि कुख्यात 42 अपराधी आने वाले विधानसभा चुनाव में कभी भी दहशत फैला सकते हैं। राजस्थान के अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस एटीएस एसओजी ने रेंज में आने वाले कुख्यात अपराधियों पर पैनी नज़र रखने के निर्देश संबंधित पुलिस अधीक्षकों को जारी किए हैं।

इन 42 कुख्यात अपराधी में सीकर जिले के दस हार्डकोर अपराधी शामिल हैं। इनमें एक महिला अपराधी का नाम भी सूची में शामिल है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, एडीजी एटीएस एसओजी ने जयपुर रेंज में आने वाले पांच जिलों के अपराधियों की सूची पुलिस अधीक्षकों से मांगी थी। सूची मिलने के बाद सामने आया कि इनमें 42 कुख्यात अपराधी ऐसे हैं, जो चुनाव में सक्रिय हैं और कोई अपराधिक घटना को अंजाम दे सकते हैं।

इस पर एडीजी ने पुलिस अधीक्षकों को इन पर नज़र रखने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिया है ताकि ज़रूरत पड़ने पर 42 कुख्यात अपराधी के इरादों पर पहले से ही अंकुश लगाया जाए और चुनाव प्रक्रिया को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न करवाया जा सके।

इन पर रहेगी खास नज़र

– फतेहपुर निवासी लेडी डॉन अनुराधा

– चंदपुरा निवासी विजयपाल

– रानोली थाने का बराल निवासी सुभाष मूंड उर्फ ओमप्रकाश

– फतेहपुर कोतवाली थाना से अजय रिणवां

– सदर फेतहपुर खाजी का बास निवासी अनिल उर्फ पांडिया

– नेछवा थाने के सिगडोला निवासी गजेंद्र उर्फ पठान

– श्रीमाधोपुर थाने के पटवारी का बास निवासी विजयपाल उर्फ फल्या

– दांतारामगढ़ निवासी राजु ठेहठ

– झुंझुनूं जिले से मंदीप उर्फ मदिया

– अलावा दौसा जिले से नरेश और सुरेश

– जयपुर ग्रामीण रेंज निवासी धरती सिंह उर्फ गोगराज

यह खबर भी पढ़े – अशोक गहलोत ने दिलाई फिल्म ‘दीवार’ की याद…

यह खबर भी पढ़े – सपाक्स ने चुनाव से पहले खेला बड़ा दांव

यह खबर भी पढ़े – मीडिया प्रभारी पद से मानक अग्रवाल को हटाया

Share.