भाजपा नेता के खिलाफ 23 मुस्लिम उम्मीदवार

0

छत्तीसगढ़ में एक ऐसी सीट है, जहां भाजपा के नेता और रमन कैबिनेट में मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कभी चुनाव नहीं हारा। रायपुर दक्षिण की इस विधानसभा सीट पर एक रोचक संयोग भी है। इस सीट से करीब 46 प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें से 23 प्रत्याशी मुस्लिम हैं यानी कुल उम्मीदवारों का 50 फीसदी मुस्लिम हैं। ऐसा पहली दफ़ा नहीं है कि रायपुर दक्षिण सीट से मुस्लिम प्रत्याशियों की संख्या अधिक हो। पिछले चुनाव में इस सीट पर कुल 39 उम्मीदवार मैदान में थे। इनमें से 22 मुस्लिम थे।

भाजपा के दिग्गज नेता बृजमोहन अग्रवाल वर्ष 1990 से अब तक कभी चुनाव नहीं हारे। पहले रायपुर फिर परिसीमन के बाद रायपुर दक्षिण सीट से भाजपा के उम्मीदवार रहे। पिछले चुनाव में इस सीट पर कुल 1 लाख 37 हजार 433 मत पड़े थे। इसमें 39 में से 22 मुस्लिम प्रत्याशी को कुल वोट 5 हज़ार 151 वोट मिले थे।

दरअसल, मुस्लिम उम्मीदवारों की संख्या ज्यादा होने के पीछे बड़े सियासती दलों की दोहरी रणनीति कार्य करती है। यहां सक्षम उम्मीदवार ही इस तरह के निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव मैदान में अपनी तरफ से उतारते हैं। खास बात यह है कि बहुत सारे उम्मीदवार ऐसे हैं, जिनके पास न तो नकद फूटी कौड़ी है और न ही कोई चल-अचल संपत्ति है फिर भी उन्होंने दस हज़ार रुपए जमानत राशि जमा की, जिसके बारे में उन्हें पता है कि यह वापस नहीं मिलेगी।

बता दें कि बृजमोहन अग्रवाल ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत छात्र राजनीति से की। वर्ष 1990 की टिकट पर पहली बार रायपुर से चुनाव लड़े और विधायक बने। 1990 से अब तक वे लगातार विधानसभा चुनाव जीतते आ रहे हैं।

Share.