जानें क्या है अल्जाइमर, कैसे होती है शुरुआत

0

दुनियाभर में 4.7 करोड़ लोग अल्जाइमर से प्रभावित हैं। भारत में लगभग 16 लाख लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं। पूरी दुनिया में 21 सितंबर को विश्व अल्जाइमर दिवस मनाया जाता है इसलिए हम आपको बताएंगे इस बीमारी के बारे में ऐसी बातें जो शायद आपको नहीं पता हो।

क्या है अल्जाइमर ?

अल्जाइमर रोग भूलने का रोग है। इस बीमारी के लक्षणों में याददाश्त की कमी होना, निर्णय न ले पाना, बोलने में दिक्कत होना आदि शामिल हैं। रक्तचाप, मधुमेह, आधुनिक जीवनशैली और सर पर चोट लग जाने से इस बीमारी के होने की आशंका बढ़ जाती है। अमूमन 60 वर्ष की उम्र के आसपास होने वाली इस बीमारी का फिलहाल कोई स्थायी इलाज़ नहीं है।

हालांकि बीमारी के शुरुआती दौर में नियमित जांच और उपचार से इस पर काबू पाया जा सकता है। हम जैसे-जैसे बूढ़े होते जाते हैं, हमारी सोचने और याद करने की क्षमता भी कमज़ोर होती जाती है, लेकिन इसका गंभीर होना और हमारे दिमाग के कार्य करने की क्षमता में गंभीर बदलाव उम्र बढ़ने का सामान्य लक्षण नहीं है। यह इस बात का संकेत है कि हमारे दिमाग की कोशिकाएं मर रही हैं।

लक्षण

अल्जाइमर बढ़ने वाला और खतरनाक दिमागी रोग है।

अल्जाइमर से दिमाग की कोशिकाएं नष्ट हो जाती हैं, जिसके कारण याददाश्त, सोचने की शक्ति और अन्य व्यवहार बदलने लगते हैं।

यह याददाश्त खोने (डीमेंशिया) का सबसे सामान्य रूप है।

संकेत

– याददाश्त खोना

– सामान्य कामकाज करने में कठिनाई

– भाषा के साथ समस्या

– समय और स्थान में असमन्वय

– निर्णय लेने में कठिनाई या गलत निर्णय

– संक्षिप्त सोच में समस्या

– चीजों को कहीं रखकर भूल जाना

– स्वभाव में बदलाव

– प्रयास करने में अक्षमता

Share.