ऐसी जगहें, जिन्हें देखकर दंग रह जाएंगे आप

0

धरती पर बहुत कुछ ऐसा है, जिसके बारे में हमें जानकारी नहीं है| पृथ्वी अद्भुत है, वह अपने अंदर कई राज़ समेटे हुए है, जिनसे बड़े से बड़ा वैज्ञानिक भी पर्दा नहीं उठा पाया| चाहे हम धरती के किसी भी कोने पर चले जाए, हमें कहीं न कहीं कुछ ऐसा दिख ही जाता है, जो अद्भुत हो, जिस पर विश्वास करना नामुमकिन हो| आज हम आपको दुनिया की कुछ ऐसी ही जगहों के बारे में बता रहे हैं, जहां आपको एक बार तो अवश्य जाना चाहिए, जिन्हें देखकर आप दंग रह जाएंगे|

कुएं में गिरी वस्तु बनती पत्थर (द पेट्रीफाइंग वेल)

इंग्लैंड में एक ऐसा कुआं है, जो अपने आप में कई राज़ समेटे हुए हैं| उसमे चाहे लकड़ी व पत्तियां गिरे या फिर कोई इंसान, वह कुछ दिनों में पत्थर का बन जाता है| वहां के लोग इस कुएं को शापित कुआं मानते हैं और कहते हैं कि किसी दैत्य के श्राप के कारण ऐसा होता है| पिछले कुछ सालों से यह कुआं टूरिज्म प्लेस के रूप में डेवलप होता जा रहा है, लेकिन स्थानीय लोग वहां जाने से डरते हैं| यदि आप भी इंग्लैंड जाएं तो एक बार वहां ज़रूर जाएं| जो लोग इस कुएं को देखने जाते हैं, वे अपने साथ कई सामान भी लेकर चले जाते हैं और कुएं में डालकर कुछ दिनों बाद फिर सामान देखते हैं, जो तब तक पत्थर का बन गया होता है| इस बारे में वैज्ञानिकों का कहना है कि कुएं के पानी में लौह तत्वों की अत्यधिक मात्रा के कारण ऐसा होता है, लेकिन वैज्ञानिक भी पूरी तरह से इसकी पुष्टि नहीं करते हैं|

कभी खत्म न होने वाला तूफ़ान (मराकाइबो का बीकन)

वेनेजुएला के पश्चिमी क्षेत्र में स्थित एक नदी में ऐसा तूफ़ान आता है, जो कभी खत्म नहीं होता| वहां के लोगों का मानना है कि हर रात करीब 7 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक रोज 10 घंटे के लिए तूफ़ान आता है| यहां हर समय बिजलियां चमकती रहती है इसलिए इसे बिजलियों का तूफान भी कहते हैं| इस बारे में वैज्ञानिकों का कहना है कि यहां के पत्थरों में यूरेनियम बड़ी मात्रा में मौजूद है, जो हर रात आने वाले इस तूफान की वजह बनते हैं, लेकिन अब वे वैज्ञानिक भी अपनी ही बातों से मुकर गए| अब कहा जाता है कि तूफ़ान वहां मौजूद पर्वतों की अजीब संरचना के कारण आता है| तूफ़ान वर्ष 2010 में एक बार थम गया था, तब सभी ने राहत की सांस ली थी, लेकिन इसके करीब डेढ़ महीने बाद ही यह अचानक फिर से शुरू हो गया और अब तक रोज रात को आता है|

जानलेवा नदी (शनाय- टिंपिशका नदी)

हम नदियों को जीवनदायिनी मानते हैं, लेकिन दुनिया में एक ऐसी भी नदी है, जहां शीतल पानी की जगह उबलता हुआ पानी मिलता है| पेरू के जंगलों से निकलने वाली शनाय- टिंपिशका नदी में गर्म पानी बहता है इसलिए इसे जानलेवा नदी के नाम से जाना जाता है| यहां पानी का तापमान 50 डिग्री सेल्सियस से लेकर 90 डिग्री सेल्सियस तक रहता है| नदी के आसपास कुछ भी दिखाई नहीं पड़ता क्योंकि चारों तरफ के पानी से उठने वाली गर्म भाप होती है| आमतौर पर भारत सहित दुनिया में गर्म पानी के तालाब मिल जाते हैं, लेकिन नदी के बहते पानी का इतना ज्यादा गर्म होना विज्ञान की समझ से बाहर है|

पेनसिल्वेनिया में पहाड़ की ऊंची चोटी पर कई रहस्यमयी पत्थर मौजूद हैं| उन्हें देखकर ऐसा लगता है जैसे किसी ने पत्थरों को लाकर वहां रख दिया हो| इन पत्थरों को पीटने के बाद इनसे अलग-अलग प्रकार के संगीत में आवाज निकलती है | आप कई सारे पत्थरों को एक साथ किसी हथौड़े की मदद से पीटकर बेहद शानदार संगीत में धुन बजा सकते हैं|

गिरगिट की तरह रंग बदलती नीली झील (होक्काइडो का ब्लू तालाब)

जापान के होक्काइडो द्वीप पर एक ऐसी झील है, जो गिरगिट की तरह रंग बदलती है| यदि आप इसके एक किनारे पर खड़े रहेंगे तो पानी नीला दिखेगा वहीं जब आप दूसरे कोने पर जाएंगे तो पानी का रंग हरा दिखेगा| बारिश का मौसम शुरू होने पर झील का रंग तेजी से बदलता है| वैज्ञानिकों का कहना है कि पानी में मौजूद एल्युमिनियम हाइड्रोक्साइड की अधिक मात्रा के कारण ही यह पानी अपना रंग बदलता है| इस झील का निर्माण एक नदी के जल से किया गया है, लेकिन उस नदी का पानी कभी नहीं बदलता| झील के पानी का रंग क्यों बदलता है यह आज भी सवाल बना हुआ है|

Share.