बिना युवराज कैसे मिलेगा विश्वकप का ताज़?

0

वैसे तो क्रिकेट जगत में कई बड़े क्रिकेटर हैं, लेकिन भारतीय टीम के युवराजसिंह ने क्रिकेटप्रेमियों के दिलों में एक ख़ास जगह बनाई हुई है| युवी के मैदान में आते ही दर्शकों का उत्साह चरम पर पहुंच जाता है| जब उनके बल्ले से गेंद लगकर सीमा पार जाती है तो दर्शकों उत्साह देखते ही बनता है| युवराज इस समय भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं, लेकिन जब वे अपनी पूरी लय में होते हैं, तब मैदान में सिर्फ और सिर्फ युवराज की चलती है| फिर उनके बल्ले से रन किसी सुनामी की तरह आते हैं और विपक्षी टीम के लिए त्रासदी बनकर चले जाते हैं| आज यानी 12 दिसम्बर को क्रिकेट जगत के सिक्सर किंग का जन्मदिन है| इस ख़ास मौके पर आज हम आपको उनके बारे में कुछ ख़ास बातें बताने जा रहे हैं|

लम्बे समय से युवराजसिंह भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं, लेकिन उनके फैंस अब भी इस इंतज़ार में हैं कि वे एक बार फिर से भारतीय टीम में वापसी करेंगे| अगले वर्ष होने वाले विश्वकप में युवराज का न खेलना लगभग तय है| भारतीय टीम को उनकी कमी ज़रूर खलेगी क्योंकि बड़े टूर्नामेंट में युवी का बल्ला हमेशा ही जमकर बोला है|

वर्ष 2007 में हुए पहले  टी-20 वर्ल्डकप की बात करें या फिर वर्ष 2011 में हुए आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप की, दोनों ही टूर्नामेंट में भारतीय टीम चैम्पियन बनी थी| वर्ष 2019 में होने वाले विश्वकप के लिए अब तक भारतीय टीम को युवराज सिंह का विकल्प नहीं मिला है| अब भी मध्यक्रम भारतीय टीम की कमजोरी बनी हुई है| चौथे स्थान के लिए भारतीय टीम 10 से ज्यादा बल्लेबाजों को आज़मा चुकी है, लेकिन अब तक कोई बल्लेबाज इस स्थान की पूर्ति नहीं कर पा रहा है|

एवरग्रीन हैं युवराज के 6 छक्के

युवी की पारियों की बात हो और 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप में उनके इंग्लैंड के खिलाफ डरबन में 6 गेंदों पर लगाए गए 6 छक्कों का जिक्र न हो, यह कैसे हो सकता है| आज भी क्रिकेटप्रेमियों के बीच उनकी इस पारी की चर्चा होती रहती है| युवराज ने यह ऐतिहासिक पारी 19 सितंबर को खेली थी| युवी इस मैच में पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे थे| ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए उन्होंने 16 गेंदों पर 58 रन बना दिए| अपनी पारी में युवराज ने 7 छक्के और 3 चौके जड़े| भारत की पारी का 19वां ओवर स्टुअर्ट ब्रॉड डालने आए और युवराज ने कमाल की बल्लेबाजी करते हुए 6 गेंदों पर लगातार 6 छक्के जड़ दिए|

युवराज ने 12 गेंदों पर अर्धशतक जड़ा| साथ ही युवराज टी-20 में 6 गेंदों पर 6 छक्के लगाने वाले पहले बल्लेबाज और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ऐसा कारनामा करने वाले दूसरे बल्लेबाज बन गए|

गुस्से में लगाए थे 6 छक्के

https://youtu.be/pZAGg9ZRM-I

युवराज ने इस पारी के बाद इंटरव्यू में खुलास किया| उन्होंने बताया कि, ब्रॉड के ओवर से पहले, एंड्रयू फ्लिंटॉफ से कहासुनी के वजह से वे गुस्से में थे| दरअसल, फ्लिंटॉफ ने युवराज को चिढ़ाते हुए कहा कि वे उनका गला काट गेंदे|
इसके बाद गुस्से में आये युवराज ने जवाब दिया, ‘तुम मेरे हाथ में बैट देख रहे हो|’ यह मामला इतना बढ़ा गया था कि अंपायरों को आकर बीच-बचाव करना पड़ा| इसके बाद युवराजसिंह ने ब्रॉड की 6 गेंदों पर 6 छक्के जड़ दिए|  भारत ने यह मैच 18 रनों से जीता| भारत ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर 218 रन बनाए| जवाब में इंग्लैंड की टीम 6 विकेट खोकर 200 रन ही बना सकी|

इन 2 टीमों में शामिल हो सकते हैं युवराज

मैदान में बोला युवराजसिंह का बल्ला, जड़े चौके-छक्के

ब्लड कैंसर से पीड़ित बच्चे से मिले युवराज

Share.