जब शशि के साथ हुआ था जानलेवा हादसा

1

ज़िन्दगी के सफ़र में कुछ ऐसी हस्तियां देखने को मिलती हैं, जिन्हें भुला पाना मुश्किल हो जाता है| अपने चरित्र और कला के दम पर कुछ लोग पूरी दुनिया में अपनी ख़ास पहचान बनाते हैं और जब ये दुनिया को अलविदा कह कर जाते हैं तो लाखों-करोड़ों लोगों की आंखें नम कर जाते हैं| आज ऐसी ही एक महान हस्ती इस दुनिया को छोड़कर चली गई थी| 4 दिसंबर 2017 को शशि कपूर ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था| आइए, शशि कपूर के जीवन के पहलुओं के बारे में जानते हैं, जिनसे आप शायद परिचित न हों|

शशि कपूर का शुरुआती करियर

बतौर चाइल्ड एक्टर उन्होंने अपने करियर की शुरुआत की थी| पचास के दशक में शशि कपूर अपने पिता के थियेटर से जुड़ गए थे| अपने शुरुआती करियर में उन्हें सफलता हासिल नहीं हुई| उन्होंने वर्ष 1961 में यश चोपड़ा की फिल्म ‘धर्मपुत्र’ से करियर की शुरुआत की थी| यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप साबित हुई थी| इसके बाद वे फिल्म ‘प्रेम पत्र’ के जरिये पर्दे पर आए, लेकिन फैंस को उनकी यह फिल्म भी पसंद नहीं आई| इसके बाद कई फिल्मों से उनको निराशा ही हाथ लगी| वर्ष 1965 में रिलीज़ हुई फिल्म ‘जब जब फूल खिले’ बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित हुई और आखिरकार उन्हें पहली हिट फिल्म मिल गई|

वर्ष 1965 में शशि की फिल्म ‘वक्त’ पर्दे पर रिलीज़ हुई| इस फिल्म में उनके साथ बलराज साहनी, राजकुमार और सुनील दत्त जैसे बड़े नाम थे| इसके बावजूद उनके अभिनय की काफी चर्चा हुई| इस फिल्म ने उनके करियर को हमेशा के लिए बदल दिया था| वर्ष 1965 से 1976 के बीच कामयाबी के सुनहरे दौर में शशि कपूर ने जिन फिल्मों में काम किया,  उनमें अधिकतर फिल्में बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित हुई थीं|

एक से एक शानदार फिल्में देने वाले शशि ने 90 के दशक में स्वास्थ्य खराब रहने के कारण फिल्मों से दूरी बना ली थी| उनकी अंतिम फिल्म वर्ष 1998 में रिलीज़ हुई ‘जिन्ना’ थी| शशि कपूर ने लगभग 200 फिल्मों में काम किया है| शशि कपूर को पिछले वर्ष फिल्म इंडस्ट्री के सर्वोच्च दादा साहब फालके सम्मान से नवाज़ा गया|

मरते-मरते बचे थे शशि कपूर

वर्ष 1979 में आई फिल्म ‘सुहाग’ के क्लाइमैक्स सीन के दौरान वे हादसे का शिकार हो गए थे| इस सीन में अमजद खान हेलीकॉप्टर से भागने की कोशिश कर रहे थे और शशि-अमिताभ उन्हें रोक रहे थे| इस सीन में दोनों सितारों को हेलीकॉप्टर पर लटकना था| 100 फीट की ऊंचाई पर जब यह सीन शूट हो रहा था, तब शशि के हाथ फिसलने लगे| शशि काफी डर गए थे और उन्हें लगा अब वह नहीं बच पाएंगे, लेकिन बहुत मुश्किल से हिम्मत जुटाकर उन्होंने फिर से हेलीकॉप्टर को पकड़कर अपनी जान बचाई थी|

घर लाए थे विदेशी दुल्हनिया

शशि कपूर ने जेनिफर कैंडल से शादी की थी, जो एक ब्रिटिश कलाकार थीं| वे शशि कपूर के साथ पृथ्वी थिएटर में अभिनय की प्रैक्टिस करती थीं| शशि कपूर ने जब पहली बार उनको देखा था तो देखते ही उनसे शादी करने का मन बना लिया था| वर्ष 1958 में सिर्फ 20 साल की उम्र में शशि ने जेनिफर से शादी कर ली|

शशि कपूर के 10 सदाबहार नगमें

नहीं रहे अभिनेता शशिकपूर…

जब शशि के साथ हुआ था जानलेवा हादसा

Share.