गांधी ने क्यों बैन किए थे किशोर कुमार के गाने ?

0

संजय गांधी (Sanjay Gandhi) की आज जयंती है। संजय गांधी का जन्म 14 दिसंबर 1946 को दिल्ली में हुआ था। संजय गांधी भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) के छोटे बेटे थे। संजय गांधी की शुरूआती शिक्षा देहरादून के वेल्हम बॉयज में हुई। स्कूली शिक्षा के बाद संजय ने ऑटोमोटिव इंजिनियरिंग को अपना करियर बनाया। उन्होंने इंग्लैंड स्थित रॉल्स रॉयस में 3 वर्ष के लिए इंटर्नशिप भी की। संजय गांधी को इंदिरा गांधी का राजनीतिक उत्तराधितारी माना जाता था, परंतु प्लेन क्रैश में  उनकी मृत्यु हो गई। संजय गांधी की मृत्यु 23 जून 1980 को प्लेन क्रैश में हुई थी। संजय गांधी की मृत्यु के चार साल बाद इंदिरा गांधी की भी हत्या हो गई।

Image result for sanjay gandhi

किशोर कुमार के गाने करा दिए थे बैन

Image result for sanjay gandhi

संजय गांधी काफी जिद्दी और गुस्से वाले थे। उनके गुस्सा का शिकार चर्चित गायक किशोर कुमार को भी होना पड़ा था। किशोर कुमार को यूथ कांग्रेस के लिए गाना गाने को कहा गया था। किशोर कुमार ने ऐसा करने से साफ मना कर दिया था। जिसके बाद संजय गांधी ने किशोर कुमार के सभी गानों को ऑल इंडिया रेडियो पर बैन करवा दिया था।

रखी थी मारुति की नींव

Image result for sanjay gandhi

1971 में प्रधानमंत्री इंदिर गांधी ने एक ऐसी गाडी के बनवाने का प्रस्ताव दिया, जो आम आदमी खरीद सके। जून 1971 में कंपनी एक्ट के अंतर्गत मारुति लिमिटेड का गठन किया गया। संजय गांधी इसके पहले मैनेजिंग डायरेक्टर बने। 1980 में संजय गांधी की मृत्यु के बाद मारुति लिमिटेड ने जापान की सुजुकी कंपनी से हाथ मिलाया। जिसके बाद भारत में पहली बार मारुति 800 का उत्पादन शुरू हुआ। इंदिरा गांधी ने पहली कार की चाभियां दिल्ली में आयोजित एक समारोह में हरपालसिंह को सौपी थी।

चुनाव हार गए थे संजय

Image result for sanjay gandhi

संजय गांधी ने मार्च 1977 में अमेठी से आम चुनाव लड़ा था। पहली बार चुनाव में संजय बुरी तरह से हार गए थे। परंतु 1980 में हुए आम चुनाव में संजय अमेठी सीट से जीत गए थे। मई 1980 में उन्हें कांग्रेस का सचिव नियुक्त किया गया था। जिसके एक महीने बाद ही 23 जून 1980 में विमान हादसे में उनकी मृत्यु हो गई

ज़बरदस्ती करा रहे थे नसबंदी

परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत संजय गांधी ने देशभर में लोगों की जबदस्ती नसबंदी कराई थी। इस कार्यक्रम के तहत करीब 62 लाख लोगों की नसबंदी कराई गई। इस दौरान गलत तरीकों से हुई नसबंदी की वजह से 2000 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी।

काश्मीरी पंडितों का दावा, सच कह रहे हैं राहुल गांधी

नेहरू विरोधी फ़िरोज़ गांधी की कैसे हुई इंदिरा से शादी

गांधी-नेहरू परिवार में सबसे पढ़े-लिखे हैं राहुल गांधी?

Share.