कचरे वाले नहीं ! कचरा साफ़ करने वाले

1

बड़े-बड़े नगरों और महानगरों में शिक्षित जनसंख्या काफी हद तक बढ़ चुकी है| शहरों में शिक्षित जनसंख्या बढ़ने के साथ-साथ एक और चीज़ भी बढ़ी है, वह है प्रतिदिन उत्पन्न होने वाला कचरा।  देश की राजधानी और आर्थिक राजधानी कचरा उत्पन्न करने के मामले में भी देश की राजधानी है।

एक रिसर्च के अनुसार, दिल्ली और मुंबई में साढ़े चार हजार मीट्रिक टन कूड़ा उत्पन्न होता है। इनमें कागज़, प्लास्टिक , थर्माकोल ,शीशा ,लकड़ी जैसी कई चीजें शामिल हैं। वैसे तो कूड़े को नष्ट करने के लिए कई तरह के उपाय किये जाते हैं। कूड़े को ज़मीन में दफनाया जाता है ,जलाया जाता है, लेकिन अब तो गड्ढे भी नहीं बचे, जिनमें इस कूड़े को दफनाया जा सके। कूड़े को जलाना या दफ़नाना कोई स्थायी उपाय नहीं है क्योंकि एक प्लास्टिक के छोटे से कप को मिटटी में घुलने के लिए हज़ारों साल भी कम पड़ जाते है और ये ‘नगर’ तो हर एक मिनट में एक नया प्लास्टिक का कप बना रहे हैं। रही बात कूड़ा जलाने की तो प्लास्टिक केवल 12% ही जल पाता है और डिऑक्सिन्स , फुरेन्स , मरकरी और पॉलीक्लोरिनेटेड बीफेनिल्स जैसी कई तरह की हानिकारक गैस से पर्यावरण को नुकसान पहुंचाता है।

युवा यह सारी जानकारी स्कूल और कॉलेज में ले चुके हैं, लेकिन इतना सब पढ़ने के बाद भी उत्पन्न होने वाला कचरा लगातार बढ़ता ही जा रहा है। प्लास्टिक और कई तरह के गैर जैव-अवक्रमणीय अपशिष्ट का उपयोग भी दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। शिक्षित लोग, जो पर्यावरण की समस्याओं से अवगत हैं, अपनी आदतों को नहीं सुधारते| अभी भी पर्यावरण को दूषित करने का काम शिक्षित और पर्यावरण को साफ़ करने का काम अशिक्षित लोग करते हैं।

हमारे देश में कई लोग हैं, जो जगह-जगह जाकर हमारी फेंकी हुई बेकार चीज़ों में से उपयोगिता ढूंढ़ने की कोशिश करते हैं। उन्हें बीनकर उससे अपना जीवनयापन करते हैं। आजकल हर कोई ‘यूज़ एंड थ्रो’ वस्तुओं की ओर ज्यादा आकर्षित होता है। इसी कारण ज्यादा कचरा उत्पन्न होता है। इस बात से तो यह निश्चित है कि हमारे पर्यावरण के लिए शिक्षित लोग हानिकारक है। अशिक्षित लोग ही कूड़ा साफ़ करने का काम करते हैं, लेकिन हमारी समाज में ऐसे लोगों को सम्मान नहीं मिल पता। उन्हें ‘कचरे वाले’ कहकर बुलाया जाता है, लेकिन इन समाज के ‘शिक्षित’ लोगों को कौन समझाए कि ‘कचरे वाले’ तो हम हैं, ये लोग तो ‘कचरा साफ़ करने वाले’ हैं।

–  अदिति मोटे

Share.