डेब्यू मैच में 16 विकेट लेकर सभी को किया था हैरान

0

भारतीय टीम के पास स्पिनरों का खजाना है| भारतीय टीम में हमेशा ही एक अव्वल दर्जे का स्पिन गेंदबाज रहता है| पहले अनिल कुंबले थे, उनके बाद हरभजन सिंह, फिर अश्विन, जडेजा और अब कुलदीप और चहल स्पिन की कमान संभालते हैं, लेकिन अनिल कुंबले से पहले भी टीम में एक बेहतरीन स्पिन गेंदबाज नरेंद्र हिरवानी था, जिसने भारतीय टीम में शानदार डेब्यू कर सभी को हैरान कर दिया था| उन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट मैच में ही 16 विकेट ले लिए थे| जी हाँ, आप भी यह पढ़कर हैरान हो गए होंगे कि पहले मैच में ही 16 विकेट| यह क्रिकेट इतिहास का अब तक का सबसे शानदार डेब्यू है|

उत्तरप्रदेश में जन्मे पूर्व भारतीय क्रिकेट नरेंद्र हिरवानी ने अपने डेब्यू पर यह कारनामा किया था| आज यानी 18 अक्टूबर 1968 को उनका 50वां जन्मदिन है| उनका जन्म 18 अक्टूबर 1968 को उत्तरप्रदेश में हुआ था| पूर्व भारतीय क्रिकेटर नरेंद्र हिरवानी ने अपना फर्स्ट क्लास करियर मध्यप्रदेश की टीम के साथ शुरू किया था| उनके पिता ईंट की फैक्ट्री के मालिक थे| वे मध्यप्रदेश के इंदौर आकर बस गए थे| इस वजह से उन्होंने मध्यप्रदेश की ओर से क्रिकेट खेलना शुरू किया|  कुंबले से पहले ये भारतीय टीम के मुख्य स्पिन गेंदबाज थे, लेकिन कुंबले के आने के बाद नरेंद्र की टीम में जगह पक्की नहीं हो पाई| अपने छोटे से टेस्ट करियर में वे कई ऐसे रिकॉर्ड बना गए, जिसे आज तक कोई नहीं तोड़ पाया|

अनोखा डेब्यू

नरेंद्र हिरवानी ने वर्ष 1988 में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था| उन्होंने महज 19 वर्ष की उम्र में वेस्टइंडीज जैसी दिग्गज टीम के सामने अपना पहला मैच खेला और इस मैच में 16 विकेट लेकर सभी को चौंका दिया| चेन्नई में खेले गए इस मैच में उन्होंने इस तरह कैरेबियाई बल्लेबाजों को अपने जाल में फंसाया कि एक के बाद एक टीम के बल्लेबाज उनकी गेंदबाजी के जाल में फंसते गए| इस मैच में हिरवानी ने कुल 136 रन देकर दोनों पारियों में 8-8 विकेट अपने नाम किए थे| यही नहीं दूसरी पारी में उन्होंने जिन 8 बल्लेबाजों को आउट किया, उनमें से 5 बल्लेबाज स्टंप आउट हुए, यह भी एक रिकॉर्ड है|

विदेश में जाते ही खत्म हुआ जादू

दाएं हाथ के लेग स्पिनर नरेंद्र हिरवानी घरेलू मैदानों पर तो काफी अच्छा प्रदर्शन करते थे, लेकिन विदेशी पिचों पर उनका जादू कहीं खो सा जाता था| पहले चार टेस्ट मैचों में 36 विकेट अपने नाम करने वाले हिरवानी अगले 9 मैचों यानी 18 पारियों में सिर्फ 21 विकेट ले पाए, बस यहीं से उनका करियर खत्म होने के कगार पर पहुंच गया|

नरेंद्र हिरवानी का करियर

नरेंद्र हिरवानी ने 8 वर्ष तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला| अपने करियर के दौरान उन्होंने 17 टेस्ट मैच खेले, जिनमें उन्होंने 66 विकेट अपने नाम किए| वहीं उनके वनडे करियर पर नज़र डाली जाए तो उन्होंने 18 मैचों में 23 विकेट अपने नाम किए| हिरवानी ने अपना अंतिम टेस्ट वर्ष 1996 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला था, उसके बाद भारतीय टीम में उनकी जगह नहीं बन पाई|

वे लगातार भारतीय टीम में मौका मिलने का इंतजार करते रहे और फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलते रहे| प्रथम श्रेणी मैचों में उनके नाम 167 मैचों में 732 विकेट दर्ज हैं| उन्होंने वर्ष साल 2005 में क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया था| संन्यास लेने के बाद उन्हें 2008 में भारतीय राष्ट्रीय चयन समिति में सदस्य बना दिया गया था, लेकिन अब वे इसका हिस्सा नहीं हैं|

Share.