Video: 86वें भारतीय वायुसेना दिवस पर जानें ख़ास बातें

0

सेना हर देश का महत्वपूर्ण अंग होती है| जल, थल, वायु तीनों सेनाओं का अपनी-अपनी जगह एक ख़ास महत्व है| आज के दिन हम आपको भारतीय वायुसेना के बारे में कुछ ख़ास बातें बताएंगे| आज का दिन भारत के इतिहास के ख़ास दिन में से एक है| आज यानी 8 अक्टूबर 1932 को भारतीय वायुसेना की स्थापना की गई थी| इस वजह से भारतीय इतिहास में 8 अक्टूबर को भारतीय वायुसेना दिवस के रूप में मनाया जाता है|

आज़ादी से पहले वायुसेना को ‘रॉयल इंडियन एयरफोर्स’ के नाम से जाना जाता था, लेकिन बाद में इसके नाम से रॉयल शब्द को हटा दिया गया और सिर्फ ‘इंडियन एयरफोर्स’ रह गया| भारतीय सेना के पास 2 लाख से भी ज्यादा जवान और 1350 लड़ाकू विमान हैं| भारतीय वायुसेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना है| मौजूदा समय में अमरीका, चीन और रूस के बाद भारत का ही  नंबर आता है| भारतीय वायुसेना के 60 से ज्यादा एयरबेस हैं, जो देश के हर कोने में स्थित हैं|

भारतीय वायुसेना में पांच कमानें हैं| नई दिल्ली में पश्चिमी कमान, इलाहाबाद में केंद्रीय (मध्य) कमान, शिलांग में पूर्वी कमान, जोधपुर में दक्षिण पश्चिमी कमान और तिरुअनंतपुरम में दक्षिणी कमान है| भारतीय वायुसेना को सबसे शक्तिशाली सेना में भी गिना जाता है| दुनियाभर में भारतीय वायुसेना सातवीं सबसे शक्तिशाली सेना मानी जाती है| भारत में 60 से ज्यादा एयरबेस हैं, जो भारत के हर कोने में स्थित हैं| वायुसेना का वेस्टर्न कमांड सबसे बड़ा एयर कमांड है, जहां 16 एयरबेस स्टेशन मौजूद हैं|

सियाचिन ग्लेशियर पर स्थित एयरफोर्स स्टेशन भारतीय एयरफोर्स का सबसे ऊंचा एयरबेस है| यह एयरबेस जमीन से 22000  फीट की ऊंचाई पर स्थित है| तजाकिस्तान के पास फर्कहोर एयरबेस स्टेशन भारत का पहला ऐसा एयरफोर्स स्टेशन है, जो विदेशी जमीन पर स्थित है|

Glimpse of the Air Force Day Parade, at Air Force Station Hindan, in Ghaziabad on October 08, 2017.

पहली बार वर्ष 1990 में महिलाओं को सशस्त्र बल में शामिल किया गया, लेकिन महिलाओं को समुद्र में होने वाली लड़ाइयों में जाने की या फिर गोलीबारी करने वाले दल में शामिल होने की इजाजत नहीं दी गई थी| वर्ष 1990 में ही पहली बार चॉपर और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट उड़ाने वाले दल में महिलाओं को शामिल किया गया था|

भारत के राष्ट्रपति भारतीय वायुसेना के कमांडर इन चीफ होते हैं| भारतीय वायुसेना के दायित्व और उसके मिशन को सशस्त्र बल अधिनियम 1947 द्वारा पारिभाषित किया गया है|

वायुसेना के 86वें स्थापना दिवस पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एयरफोर्स का एक वीडियो शेयर किया| पीएम मोदी ने लिखा, “महान देश भारतीय वायुसेना के जवानों  और उनके परिवार को सलाम करता है| वे हमारे आकाश को सुरक्षित रखते हैं और किसी भी आपदा के वक्त मानवता की सेवा करने के लिए सदैव तत्पर रहते हैं|”

इस मौके पर देश में वायुसेना दिवस का जश्न देखने को मिल रहा है| गाजियाबाद के हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पर सुबह 8 बजे से ही वायुसेना के जांबाजों ने जमीन से लेकर आसमान तक अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया|

Share.