हिन्दी दिवस 2018 : हिन्दी से जुड़े ये तथ्य नहीं जानते होंगे आप

0

देश में हर साल 14 सितंबर हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है| आज के ही दिन वर्ष 1949 में हिन्दी को राजभाषा का दर्जा प्राप्त हुआ था| भारत में सैकड़ों भाषाएं बोली जाती हैं, लेकिन उनमें से हिन्दी को ही राजभाषा का दर्जा क्यों मिला?  साल 1947 में जब देश अंग्रेजी हुकूमत से आज़ाद हुआ तो देश के सामने भाषा को लेकर सबसे बड़ा सवाल था| भारत का अपना संविधान भी पूरे देश में लागू हो चुका था| देश चलाने के लिए जिन कानूनों की आवश्यकता थी, वह भी बन चुके थे, लेकिन राष्ट्रभाषा किसे चुना जाए, यह बड़ा मुद्दा था| गहन चिंतन और मंथन के बाद हिन्दी और अंग्रेजी को राष्ट्र की भाषा चुन लिया गया| सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से सुनिश्चित किया गया कि हिन्दी ही राष्ट्रभाषा होगी| 

आइये, आज जानते हैं हिन्दी और हिन्दी दिवस के बारे में कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

पहला हिन्दी दिवस कब मनाया गया?

पहला हिन्दी दिवस 14 सितंबर 1953 में मनाया गया| दरअसल, देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने भारत में हिन्दी भाषा की महत्ता को देखते हुए प्रतिवर्ष 14 सितंबर को हिन्दी दिवस मनाने का फैसला किया था|

फ़ारसी शब्द से बना हिन्दी

यह शायद ही आप जानते होंगे की हिन्दी शब्द का निर्माण फ़ारसी शब्द से हुआ है| ‘हिन्दी’ शब्द ‘हिन्द’ से बना है, जिसका मतलब होता है सिंध नदी के पास रहने वाले लोग| दरअसल, 11वीं सदी में जब तुर्कों ने पंजाब और गंगा के मैदानी क्षेत्र पर हमला किया था, तब उन्होंने वहां के निवासियों के लिए हिन्द शब्द का उपयोग किया था| ये इसीलिए क्योंकि तुर्की लोग ‘स’ का उच्चारण ‘ह’ करते हैं इसीलिए सिंध का उच्चारण हिन्द किया गया|

इस राज्य में बनी पहली आधिकारिक भाषा

बिहार वह पहला राज्य था, जिसने हिन्दी को आधिकारिक भाषा के रूप में चुना| राज्य ने 1881 में हिन्दी को आधिकारिक भाषा के रूप में दर्जा दिया|

विश्व हिन्दी दिवस

हम सब जानते हैं कि हिन्दी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाता है, लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि पूरा विश्व भी हिन्दी दिवस मनाता है| जी हां, 10 जनवरी विश्व हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है| इसकी शुरुआत 1975 में नागपुर से हुई थी और वर्ष 2006 में इसे विश्वभर में पहचान मिली|

दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा

वर्ष 2015 में एक रिपोर्ट में बताया गया था कि हिन्दी वह भाषा है, जो दुनियाभर में सबसे ज्यादा बोली जाती है|

कई देशों में बोली जाने वाली भाषा

सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पाकिस्तान, नेपाल, मॉरीशस, फ़िजी, सूरीनाम, गुयाना, त्रिनिदाद और टोबेगो में भी हिन्दी भाषा बोली जाती है|

हिन्दी के कई शब्द ऐसे हैं, जिनसे अंग्रेजी के शब्द बने हैं जैसे – जंगल, कर्मा, योगा, बंगला, चीता, लूट|

हिन्दी भाषा का ‘नमस्ते’ एक ऐसा शब्द है, जो सबसे ज्यादा बार बोला जाता है| इसका उपयोग विदेशी भी भारतवासियों को संबोधित करने के लिए करते हैं|

विदेश में पढ़ाई जाती है हिन्दी

हिन्दी विदेशों में भी पढ़ाई जाती है| अमरीका की 45 यूनिवर्सिटी में और पूरी दुनिया की  146 यूनिवर्सिटीज़ में हिन्दी पढ़ाई जाती है|

आपको यह जानकार बड़ी हैरानी होगी कि हिन्दी साहित्य का पहला लेखक हिंदुस्तानी नहीं था, न ही वो कोई हिन्दू या मुसलमान था| वह लेखक फ्रांसीसी था, जिनका नाम ग्रानिस द तैसी था|

दुनियाभर में 64 करोड़ लोगों की मातृभाषा हिन्दी है, जबकि सिर्फ 20 करोड़ लोगों की दूसरी भाषा और 44 करोड़ लोगों की तीसरी, चौथी या पांचवीं भाषा हिन्दी है|

आसानी से सीखी जाने वाली भाषा

हिन्दी भाषा की सबसे रोचक बात यह है कि हिन्दी शब्दों को जैसे बोला जाता है, वैसे ही लिखा भी जाता है इसलिए और भाषाओं की तुलना में इस भाषा को सीखना बहुत आसान है|

Share.