दिलचस्प है टीवी का इतिहास

0

मनोरंजन का सबसे बेहतरीन साधन बन चुके टीवी की अहमियत को वर्ष 1996 में वैश्विक रूप में उस समय पहचान मिली, जब संयुक्त राष्ट्र ने विश्व टेलीविजन दिवस की घोषणा की। वर्ष 1996 में संयुक्त राष्ट्र ने 21 नवंबर के दिन विश्व टेलीविजन दिवस मनाने का ऐलान किया। संयुक्त राष्ट्र के सामने जब टेलीविजन दिवस का प्रस्ताव गया तो सबसे पहला सवाल उठा कि विश्व टेलीविजन दिवस क्यों मनाया जाए। इसके पीछे तर्क था कि टीवी के जरिये सामाजिक, आर्थिक और आम आदमी के जीवन से जुड़ी कई परेशानियों पर ध्यान केंद्रित किया जा सकता है। इन सब के बीच 17 दिसंबर 1996 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 नवंबर को विश्व टेलीविजन दिवस के रूप में घोषित किया। 1996 में 21 और 22 नवंबर को विश्व के प्रथम विश्व टेलीविजन फोरम का भी आयोजन किया गया। इस पूरे विश्व की मीडिया हस्तियों ने संयुक्त राष्ट्र के संरक्षण में मुलाकात की थी।

भारत में टेलीविजन

भारत में पहली बार लोगों के सामने टीवी 1950 में आया। जब चेन्नई के एक इंजीनियरिंग स्टूडेंट ने एक प्रदर्शनी में पहली बार टेलीविजन सबके सामने रखा। भारत में पहला टेलीविजन सेट कोलकाता के नियोगी परिवार ने खरीदा था। 1965 में ऑल इंडिया रेडियो ने रोज़ाना टीवी ट्रांसमिशन शुरू कर दिया। 1976 में सरकार ने टीवी को ऑल इंडिया रेडियो से अलग कर दिया गया। 1982 में पहली बार राष्ट्रीय टेलीविजन चैनल की शुरूआत हुई। यही वो साल था, जब भारत में पहला कलर टीवी आया।

80-90 का दशक भारत में टेलीविजन के विस्तार का रास्ता खोलता गया। दूरदर्शन पर महाभारत और रामायण जैसी सीरियलों ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। तब महाभारत या रामायण टीवी पर आता था तो सड़कों पर कर्फ्यू सा लग जाता था। 90 के दशक में टेलीविजन चैनल का सारा कार्य प्रसार भारती को सौंप दिया गया था। प्रसार भारती ने इसी दशक में दूरदर्शन के साथ डीडी नाम से चैनल शुरू किया, जिसका बाद में नाम बदलकर डीडी मेट्रो कर दिया गया। 1991 में नरसिम्हाराव जब प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने टीवी के विस्तार की शुरुआत की। इसके बाद प्राइवेट चैनलों की एंट्री हुई।

दुनिया के सबसे कीमती टीवी सेट्स

 स्टुअर्ट हुघेस प्रेस्टीज एचडी सुप्रीम रोज एडिशन

इस टीवी की कीमत 16,07,06,250 रुपए है। इस टीवी मे कई सारे यूनिक फीचर्स हैं। इसके बटन को हीरे से बनाया गया है। टीवी में 28 किलोग्राम का फ्रेम है, जिसको बनाने में 18 कैरट का पिंक गोल्ड और 48 डायमंड का उपयोग हुआ है।

टाइटन जीउस

दूसरा सबसे कीमती टीवी टाइटन जीउस है। बाज़ार में इसकी कीमत 11,43,28,000 रुपए है। इस टीवी की साइज 370 इंच हैं और यह टीवी 4के रेसोलुशन प्रदान करता है।

पैनासोनिक टीएच-152यूएस1डब्लू

कीमती टीवी में पैनासोनिक के टेलिविजन का नाम भी शामिल है। पैनासोनिक टीएच-152यूएस1डब्लू की कीमत बाज़ार में 5,50,35,750 रुपए है। इसमें फुल एचडी 3डी आई व्यू फीचर भी शामिल है।

सी सीड 201

कीमती टीवी के मामले में सी सीड 201 दुनिया में चौथे स्थान पर है। इस टीवी की कीमत 4,86,09,800 रुपए है। इसमें 201 इंच का स्क्रीन डिस्प्ले है।

Share.