दिग्विजयसिंह का खुलासा :  क्यों रहे चुनाव से दूर

0

मध्यप्रदेश में इस बार चुनाव हुए तो कांग्रेस ने पूरी ताकत के साथ भाजपा का मुकाबला किया। इस चुनाव में संगठन में कई बदलाव भी हमें देखने को मिले। जैसे छिंदवाड़ा के बड़े नेता और सांसद कमलनाथ को प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया। वहीं गुना से सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाया गया, लेकिन समन्वय के लिए जिन्हें जिम्मेदारी दी गई, वे इन दोनों ही नेताओं से बड़े नेता थे। उन्होंने पूरे चुनाव में अपनी भूमिका तो निभाई, लेकिन परदे के पीछे रहकर। आखिर क्यों दिग्गी को परदे के पीछे रहकर काम करना पड़ा और उनसे बड़े नेताओं ने दूरी क्यों बनाकर रखी। इसका खुलासा मतदान के दूसरे दिन दिग्विजयसिंह ने किया।

एक निजी समाचार चैनल से बातचीत में दिग्विजयसिंह ने इस राज़ से परदा उठा दिया है। 71 वर्षीय दिग्विजयसिंह ने कहा कि मैंने खुद को चुनाव अभियान से बाहर रखा क्योंकि मुझे मध्यप्रदेश में ज्यादा हस्तक्षेप नहीं करने के लिए कहा गया था इसलिए मैं दो अभियानों में बाहर रहा। जो कुछ भी मैं कर सकता था, जो भी मुझे करने के लिए कहा गया था, मैंने किया।

कांग्रेस के 15 सालों से सत्ता से बाहर रहने के सवाल पर दिग्विजयसिंह ने कहा कि प्रदेश में 60 लाख फर्जी वोटर हैं, जिनके दम पर भाजपा अपना वोटबैंक बढ़ाती है। उन्होंने कहा कि पांच सालों में एक विपक्षी पार्टी के तौर पर कांग्रेस कोई ‘रीयल चुनौती’ नहीं दे सकी।  उन्होंने जोर देकर कहा कि इस बार आपको मैं आश्वस्त कर सकता हूं कि इस बार कांग्रेस जिस तरह से एकजुट थी, ऐसा मैंने इससे पहले कभी नहीं देखा। भाजपा के खिलाफ हम एक साथ मिलकर लड़ रहे हैं।

इससे पहले चुनाव के दौरान दिग्विजयसिंह का एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें उन्होंने कहा था कि वे कोई चुनावी अभियान नहीं करेंगे या भाषण नहीं देंगे, जिससे उनकी पार्टी को नुकसान हो। मेरे भाषण से कांग्रेस का वोट कटेगा, इसलिए मैं ऐसा नहीं करूंगा।

गौरतलब है कि सूबे के दो बार के मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह का राजनीतिक कद आज भी कांग्रेस के किसी अन्य नेता से बड़ा है। इस बात को कांग्रेस का राष्ट्रीय नेतृत्व भी जानता है, तभी दिग्विजयसिंह को पूरी तरह से इस विधानसभा चुनाव से अलग नहीं किया गया, लेकिन जैसे ही दिग्विजयसिंह का नाम आते ही भाजपा नकारात्मक प्रचार करने में जुट जाती है, उसे देखते हुए कांग्रेस ने दिग्विजयसिंह को आगे भी नहीं किया।

– पॉलिटिकल डेस्क

भीमा कोरेगांव केस में जुड़े दिग्विजयसिंह के तार

आज भी कम नहीं हुआ दिग्विजयसिंह का दम

Video: मेरे भाषण से कांग्रेस के वोट कटते हैं – दिग्विजयसिंह

Share.