जानें कैसे हुई केक की शुरुआत?

1

आज पूरी दुनिया में क्रिसमस की धूम (History Behind Cutting a Cake On Christmas ) छाई है| हर कोई गिफ्ट्स दे रहे हैं, केक खा रहे हैं| ऐसा कहते हैं कि क्रिसमस का यह त्यौहार केक के बिना अधूरा है| क्या आप जानते हैं कि केक, जिसे हम हर ख़ुशी के मौके पर काटते हैं, वह सबसे पहले कब बना था, इसकी उत्पत्ति कैसे और कब हुई? केक कई सालों तक अपने बदलाव के कई पड़ावों को पार करने के बाद आज हमारे डेज़र्ट का सबसे खास हिस्सा बन गया है| आइये क्रिसमस के मौके पर जानते हैं केक से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य|

ऐसा कहा जाता है कि पहले केक और रोटी के बीच ज्यादा अंतर नहीं किया जाता था| केक की (History Behind Cutting a Cake On Christmas ) शुरुआत रोम से हुई मानी जाती है| रोम के लोग टिन कवि  ओविड ने निर्वासन की अपनी पहली पुस्तक ट्रिस्टिया में अपने और अपने भाई के जन्मदिन में पार्टी और केक के बारे में बताया है| उस समय एक केक और रोटी के बीच सबसे स्पष्ट अंतर था, केक का गोल, समतल आकार और पकाने की विधि, जिसमें केक को एक बार बीच में पलटा जाता था, लेकिन रोटी को सेंकने की पूरी प्रक्रिया के दौरान बिना पलटे ही रहने दिया जाता था| पहले केक सख्त बनता था|

जब केक में बटर के उपयोग के लिए मांगी इजाज़त

केक में बटर के उपयोग की शुरुआत के पीछे बहुत ही दिलचस्प कहानी (History Behind Cutting a Cake On Christmas ) है| पहले के लोग सख्त केक बनाते थे, उसमें बटर या उसके जैसी किसी भी चीज का इस्तेमाल नहीं करते थे| नतीजा केक बेहद स्वादहीन और कठोर बनता था| जर्मन में सबसे पहले 1545 में क्रिसमस ब्रेड के तौर पर बेक किया गया था, लेकिन उसे बनाने से पहले कई पापड़  बेलने पड़े थे| दरअसल, उस समय बेकर्स बटर का उपयोग नहीं कर सकते थे, लेकिन धीरे-धीरे केक में बटर का उपयोग किया गया|

स्वाद के लिए चुकाई जाती थी कीमत

जर्मनी में पहले आटे, यीस्ट और तेल से केक बनाया जाता था, यह सख्त होने की वजह से स्वादहीन बनता था| इसके बाद 15वीं शताब्दी में प्रिंस इलेक्टर अर्न्स्ट और उनके भाई ड्यूक अल्ब्रेख्त ने रोम में पोप को खत लिखा और केक में बटर के इस्तेमाल के लिए अनुमति मांगी, पहले तो उनकी अर्जी नहीं स्वीकारी गई, लेकिन अंत में पोप को इलेक्टर अर्न्स्ट और उनके भाई की बात मनानी पड़ी| शुरुआत (History Behind Cutting a Cake On Christmas ) में अर्जी इसलिए खारिज की गई क्योंकि तेल की अपेक्षा बटर और महंगा था|

पोप द्वारा शुरुआत में प्रिंस इलेक्टर अर्न्स्ट और उनके भाई ड्यूक अल्ब्रेख्त को और उनके साथ कुछ लोगों को ही यह अनुमति दी गई थी और इसके लिए वे रकम भी चुकाते थे| इसके कई सालों बाद बटर के इस्तेमाल से पूरी तरह से प्रतिबंध हट (History Behind Cutting a Cake On Christmas ) गया|

केक को 19वीं सदी में सबसे पहले स्कॉटलैंड में बनाया गया था| दरअसल, वहां की रानी को केक में चेरिज़ पसंद नहीं थी इसलिए उनकी इच्छा को देखते हुए उनके लिए सबसे पहले केक में चेरी की जगह बादाम का उपयोग किया गया| 1947 के बाद एक नामी कंपनी ने इसे इंडिया में भी बेचा, जिसके बाद यह पूरे विश्व में प्रसिद्ध हो गया| 1980 में इसे बाज़ार से हटा लिया गया था, लेकिन तब तक केक को क्रिसमस के गिफ्ट के तौर पर देने का चलन बढ़ गया था|

इसके बाद धीरे-धीरे कई प्रकार के केक बनाए (History Behind Cutting a Cake On Christmas ) जाने लगे| आज हम कई प्रकार के केक बना सकते हैं और खरीद भी सकते हैं| किसी ज़माने में केक बनाने (विशेष रूप से अंडे की झाग उठाने में) में काफ़ी मेहनत लगा करती थी, लेकिन अब केक बनाना कोई कठिन प्रक्रिया नहीं रही, बहुत ही आसानी से और कम समय में केक बनकर तैयार हो जाता है|

इस क्रिसमस ऐसे करें अपनों को विश…

यहां सांता नहीं भूत देते हैं क्रिसमस पर तोहफे

वास्तु दोषों को दूर भगाए क्रिसमस ट्री

Share.