पाकिस्तान में पैदा हुए खिलाड़ी ने पाकिस्तान की लुटिया डुबोई

0

पाकिस्तान की टीम की गिनती उन टीमों में होती है, जो मजबूत स्थिति में पहुंचने के बावजूद मैच हार जाती हैं या फिर बड़ी मशक्कत के साथ जीत दर्ज करती हैं| पाकिस्तानी टीम हर मैच को रोमांचक बना देती है| ऐसा ही कुछ पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए पहले टेस्ट मुकाबले में देखा गया| इस मुकाबले को पाकिस्तान की टीम आसानी के साथ जीत रही थी, लेकिन पाकिस्तान में जन्मे उस्मान ख्वाजा ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी की दमदार शतकीय पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने इस मुकाबले को ड्रॉ करवा दिया| चौथे दिन तक सभी यह उम्मीद लगाकर बैठे थे कि पाकिस्तान ही इस मुकाबले को जीतेगा, लेकिन पाकिस्तान के गेंदबाजों ने सभी पाकिस्तान क्रिकेटप्रेमियों की उम्मीदों पर पानी फेर दिया|

एशिया कप 2018 (पाकिस्तान बनाम अफगानिस्तान)

ऐसा पहली बार नहीं हुआ, जब पाकिस्तान की टीम ने जीती हुई बाज़ी को छोड़ा हो| हाल ही में एशिया कप में हुए मुकाबले पर एक नजर डाली जाए तो वहां भी पाकिस्तान के यही हालात थे| सबसे पहले नजर डालते हैं एशिया कप 2018 में खेले गए पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच हुए मुकाबले पर| इस मुकाबले में भी पाकिस्तान पहले एकतरफा जीत की ओर था और एकदम से टीम हार के कगार पर पहुंच गई| पाकिस्तान ने अफगानिस्तान के खिलाफ 50वें ओवर की अंतिम गेंद पर 3 विकेट के साथ जीत दर्ज की थी|

चैम्पियंस ट्रॉफी 2017 (पाकिस्तान बनाम श्रीलंका)

Britain Cricket – Sri Lanka v Pakistan – 2017 ICC Champions Trophy Group B – Sophia Gardens – June 12, 2017 Pakistan’s Sarfraz Ahmed celebrates at the end Action Images via Reuters / Andrew Couldridge Livepic EDITORIAL USE ONLY.

भारत को फाइनल में हराकर चैम्पियंस ट्रॉफी 2017 का खिताब पाकिस्तान ने अपने नाम किया था| चैम्पियंस ट्रॉफी 2017 में पाकिस्तान का प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा था| किसी को उम्मीद नहीं थी कि पाकिस्तान इस खिताब को अपने नाम करेगा| ख़ासकर इस टूर्नामेंट में पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच हुए मुकाबले के बाद सभी ने उम्मीद छोड़ दी थी कि पाकिस्तान इस टूर्नामेंट को अपने नाम कर पाएगी|

इस मुकाबले में श्रीलंका की टीम अच्छी बल्लेबाजी कर रही थी और एक समय तो उसने तीन विकेट पर 161 रन बना लिए थे| इस समय ऐसा लग रहा था कि श्रीलंका 280-300  के बीच स्कोर बना लेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और श्रीलंका 236 रनों पर सिमट गई| पाकिस्तान के लिए यह लक्ष्य काफी आसान था| पाकिस्तान की सलामी जोड़ी ने 74 रन बना दिए थे, लेकिन इसके बाद आया राम, गया राम की कहानी शुरू हो गई| पाकिस्तान के सात बल्लेबाज जब 162 पर आउट हो गए तो लगा कि पाकिस्तान हार जाएगा, लेकिन कप्तान सरफराज टिके रहे और टीम को जिताकर फाइनल तक लेकर आए|

ऐसा रहा पाकिस्तान बनाम ऑस्ट्रेलिया मैच का रोमांच

पाकिस्तान मैच लगभग जीत चुकी थी| टीम को जीतने के लिए 90 ओवर में ऑस्ट्रेलिया के 7 खिलाड़ी आउट करना था| वहीं दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया को भी हार मंजूर नहीं थी| अंतिम दिन टीम के सामने 462 रनों का लक्ष्य था, जिसे पाना लगभग नामुमकिन था| अब पाकिस्तान के पास सिर्फ एक ही रास्ता था, मैच को किसी भी तरह ड्रॉ करवाना| इसके लिए पाकिस्तान की टीम को पूरा दिन क्रीज पर रुकना था| ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज़ उस्मान ख्वाजा ने 9 घंटे तक बल्लेबाजी की और 141 रन बनाकर आउट हो गए|

उस्मान के आउट होते ही एक बार फिर से उम्मीद जागी कि पाकिस्तान जीत जाएगा| उस्मान ख्वाजा के आउट होने के बाद दो विकेट दो रनों पर गिर गए और स्कोर 333/8  हो गया| यहां से पाकिस्तान जीत के बहुत करीब पहुंच गया था| मैच को ड्रॉ करवाने के लिए ऑस्ट्रेलिया को 11 ओवर का सामना करना था और नैथन लॉयन और कप्तान टिम पेन पाकिस्तानी गेंदबाजों के सामने टिके रहे और इस मैच को ड्रॉ करवाने में कामयाब हो गए| पाकिस्तान के प्रदर्शन को देखकर तो यही बात मन में आती है कि “”हार कर जीतने वाले को बाजीगर कहते हैं और जीतकर हारने वाले को पाकिस्तान|””

-ह्रदय कुमार

Share.