B’day: दूसरी लता मंगेशकर थीं अनुराधा पौडवाल

0

बॉलीवुड और भजन गायिका अनुराधा पौडवाल को दूसरी लता मंगेशकर कहा जाता है| बॉलीवुड फिल्मों में अपनी सुंदर आवाज से उन्होंने कई दिल जीते, लेकिन उन्होंने अचानक फिल्मों के लिए गाना छोड़ दिया और भजन गाना शुरू कर दिया| आज यानी 27 अक्टूबर को अनुराधा पौडवाल का 64 वां जन्मदिन है| इस ख़ास मौके पर हम आपको बता रहे हैं, उनसे जुड़ी कुछ ख़ास बातें|

अनुराधा पौडवाल का जन्म 27 अक्टूबर 1954 को मुंबई के एक महाराष्ट्रियन ब्राह्मण परिवार में हुआ था| उन्होंने अपने करियर की शुरुआत अमिताभ और जया की फिल्म अभिमान से किया था, जो कि वर्ष 1973 में रिलीज़ हुई थी| अपने दौर में अनुराधा लगभग हर फिल्म में गाना गाती थीं| अंतिम बार उन्होंने फिल्म ‘जाने होगा क्या’ के एक गाने में अपनी आवाज दी थी| इसके बाद 12 वर्ष से वे फिल्मों से पूरी तरह दूर हैं| उन्होंने बॉलीवुड और भजनों के अलावा पंजाबी, बंगाली, मराठी, तमिल, तेलुगु, उड़िया और नेपाली में भी गाने गाए हैं|

क्यों छोड़ा फिल्मों में गाना ?

बॉलीवुड में अपना करियर बनाने के बाद उन्होंने अचानक गाना छोड़ दिया| एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया था, कि आखिर उन्होंने क्यों गाना छोड़ा| उन्होंने बताया, “म्यूजिक ऑरिएंटेड फिल्में न होने की वजह से मैंने प्लेबैक सिंगिंग छोड़ दी है| अब पहले की तरह गाने का संगीत और बोल मीठे नहीं होते| मुझे भक्ति गीतों में अब वह आनंद मिलता है|”

गुलशन कुमार से रिश्ते को लेकर भी वे काफी चर्चा में रहीं| उनकी शादी अरुण पौडवाल से हुई थी| अरुण एसडी बर्मन के असिस्टेंट थे और खुद भी एक म्यूजिक कंपोजर थे| उनके दो बच्चे हैं आदित्य और कविता पौडवाल| अरुण पौडवाल अचानक मौत के बाद अनुराधा और गुलशन कुमार के बीच नज़दीकियां बढ़ गईं  थीं| अनुराधा ने 10 वर्ष से ज्यादा समय तक टी-सीरीज के लिए काम किया था|

 

अपने करियर के दौरान अनुराधा तीन फिल्मफेयर अवॉर्ड जीत चुकी हैं| उन्हें फिल्म ‘आशिकी’, ‘दिल है कि मानता नहीं’ और ‘बेटा’ के लिए तीन फिल्मफेयर अवॉर्ड मिले हैं| उनकी सफलता के बाद ही उन्हें दूसरी लता मंगेशकर कहा जाने लगा था| एक बार ओपी नैयर ने कहा था कि, लता अब खत्म, अनुराधा ने उन्हें रिप्लेस कर दिया है| अनुराधा लता मंगेशकर की बहुत बड़ी फैन हैं| यहां तक कि वह अपनी सिंगिग की प्रैक्टिस भी लताजी को सुनते हुए ही करती थीं|

अनुराधा जब अपने करियर की उंचाईयों पर थीं उस समय उन्होंने घोषणा की थी कि वह अब सिर्फ गुलशन कुमार की कंपनी टी-सीरीज के लिए ही गाएंगी| इसका सीधा फायदा अलका याग्निक और दूसरी सिंगर्स को मिला| भक्ति गीत गाने के बाद से ही उनका करियर ढलान पर आने लगा| उन्होंने करीब 5 वर्षों तक किसी भी फिल्म या दूसरी म्यूजिक कंपनी के लिए कोई गाना नहीं गाया था|

कभी नहीं ली गाने की ट्रेनिंग

अनुराधा इंडियन म्यूजिक को बहुत ही अच्छी तरह से पेश करती थीं| हालांकि, उन्होंने कभी भी क्लासिकल सिंगिंग की ट्रेनिंग नहीं ली थी| अनुराधा ने एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्होंने क्लासिकल सिंगिंग की बहुत कोशिश की, लेकिन वह इसके लिए उपयुक्त नहीं थीं| अनुराधा की बेटी कविता पौडवाल भी सिंगर हैं और उन्होंने कई भजन गाए हैं |

Share.